Home » Spotlight » Madhuri Dixit shares a throwback picture with beautiful quarantine poetry

Madhuri Dixit For PLANET BOLLYWOOD

Madhuri Dixit shares throwback picture with beautiful quarantine poetry

Bollywood veteran actress Madhuri Dixit Nene has shared some profound thoughts in a post she has shared on social media. Madhuri took to Instagram, where she shared a throwback picture, which seems to have been taken during a photoshoot in the nineties. In the image, Madhuri is seen wearing a brown sweater, scarf and the sun rays render a golden on her flawless skin.

“Laakar thodi si khushi apne chehre par, humne khud ko dusron se ala bana liya, log dhoondte rahe muskraane ka kaaran, humne dusron ki khushi ko pana bana liya.  #QuarantineThoughts,” she wrote alongside the image.

https://www.instagram.com/p/CCn8wO9HRtv/

On July 12, Madhuri Dixit starter Devdas completed 18 years and, on the special occasion, she remembered choreographer Saroj Khan and recalled how she helped Madhuri gave one of the finest dance performances of her career. Devdas also starred Shah Rukh Khan and Aishwarya Rai Bachchan in lead roles.

Taking to Instagram, Madhuri shared a video of her performing to the song along with Saroj Khan on a dance reality show and penned a heartfelt post. “Today as we mark #18YearsOfDevdas, I dedicate it to the force behind one of my finest dance performances in the film to Saroj hi,” she wrote.

View this post on Instagram

Today as we mark #18YearsOfDevdas I dedicate it to the force behind one of my finest dance performances in the film – Saroj ji. सरोज जी के साथ किसी भी गाने को शूट करना हमेशा की तरह शानदार अनुभव होता था। देवदास बहुत ही स्पेशल फिल्म थी, क्योकि इस फिल्म के सारे गाने बहुत ही ग्रैंड थे। मैंने कभी उनके साथ इस तरह का गाना नहीं किया था। हमने बहुत सारे इंडियन गाने किये थे, लेकिन इस तरह का क्लासिकल डांस नहीं और सरोज जी सेमी क्लासिकल डांसर थी। वो कहती थी," ये जरा कत्थक स्टाइल है, संभाल लेना "। आज वो हमारे साथ नहीं हैं , पर ये वो बातें है जो मुझे हमेशा याद रहेंगी। देवदास के सारे गानों पर हमने बहुत मेहनत कि थी। हम सारी रात शूट किया करते थे, शाम 7 बजे से लेकर सुबह होने तक। जब भी मैंने सरोज जी के साथ काम किया, हमने कभी नहीं सोचा की स्टेप्स कितने आसान हो सकते है, पर हमेशा इस बात पर जोर रहा की हम इसे कितना कठिन कर सकते है। "मार डाला" में भी ऐसे कितने क्षण है, जो काफी कठिन थे ऐसा ही एक स्टेप था जहाँ मुझे अपने घुटने पर घूमना था और नीचे झुककर 'मार डाला' स्टेप करना था। पर जब भी मैं अपने घुटने पर घूमती थी, मैं फिसल जाती थी,पर हम बहुत ही निश्चित थे कि हम ऐसे ही इस मूवमेंट को करना चाहते हैं। इस गाने को लेकर हम काफी उत्साहित थे जिस तरह सरोज जी ने 'मार डाला' को चित्रित किया, बहुत ही सुन्दर है। इस गाने में ऐसे काफी सारे मूवमेंट्स हैं जो काफी कठिन हैं, एक शॉट ऐसा है जहाँ  'मार डाला' चार पांच तरीको से कहा जाता है| सरोज जी ने आईडिया निकाला कि इसे मूवमेंट्स में करने के जगह क्यों न हम चेहरे से अभिव्यक्त करें? एक 'मार डाला' जैसे आश्चर्य, एक जैसे उदास 'मार डाला', फिर एक वैसा जैसे मुझे पता है कि तुम मुझसे प्यार नहीं करते पर मैं करती हूँ इस तरह से इस गाने में हमनें काफी बार 'मार डाला' की अलग अलग अभिव्यक्ति दिखाई। इस गाने में सुंदरता है, पीड़ा है, खुशी है, इसमें वो सारे भाव हैं जो चंद्रमुखी ने महसूस किये हैं, और सरोज जी ने वो सारे भाव बहुत ही सुंदरता से चित्रित किये मुझे आज भी याद है जब शूट पैकउप हुआ, सरोज जी के चेहरे पर एक अलग ही मुस्कान थी, वो काफी खुश थी मेरी परफॉरमेंस से|

A post shared by Madhuri Dixit (@madhuridixitnene) on

“Shooting any song with Saroj ji was as great as ever. ‘Devdas’ was a very special film, as all the songs in this film were very grand. I had never done a song like this with her. We did a lot of Indian songs, but not such classical dance and Saroj ji was a semi-classical dancer. She used to say, ‘It’s a little Kathak style, take care’. She is not with us today, but these are the things that I will always remember,” Madhuri wrote.

Saroj Khan breathed her last on July 3.. She was admitted to Mumbai’s Guru Nanak Hospital on June 20 after complaining of difficulty in breathing and died of cardiac arrest. She was 71.The three-time National Award winner had choreographed some of the most memorable songs in Hindi cinema.